S.M.MAsoom

  • image01

    S.M.Masum"s Photo Blog

    Love for Nature and History

  • image02

    Friendly

    मारीशस सरकार की भोजपुरी स्पीकिगं यूनियन की चेयर मैन डा0 सरिता बुधू ने आज जौनपुर में एक कार्यक्रम में हिन्दी को विश्व स्तर पर प्रचार प्रसार करने वाले हमारा जौनपुर और पयाम ऐ अमन वेब साईट के संचालक एस एम् मासूम को सम्मानित किया।

  • image03

    Social Media Activist

    हमारा जौनपुर डॉट कॉम संचालक को जनपद का नाम रोशन करने के लिए पत्रकार रत्न से किया गया सम्मानित |

  • image04

    Insecure

    Jaunpur City in English

  • image05
  • image06

    World Peace

    Under guidence of Ahlulbayt

  • image07

    Voice of Jaunpur

    First website of Jaunpur in English

  • image08

    Guidence

    Guidence from Ahlulbayt in Hindi

धर्म दर्शन

  1. बेअसत और हमारी जिम्मेदारियां
  2. सवाल जवाब क़ुरआन
  3. क़ुरआनी दुआएं
  4. कुरान के बारे मैं
  5. रिजक की तंगी के वक़्त की दुआ (सहिफा इ सज्जडिया )
  6. हज़रत इमाम महदी अलैहिस्सलाम की अहादीस (प्रवचन)
  7. अलामते ज़हूर इमाम महदी (अ)
  8. मुसलमानों के खलीफा हज़रत अली की शहादत कैसे हुई ?
  9. आप आस्तिक है या नास्तिक? फैसला खुद करें..
  10. सभी धर्म का आदर करो हजरत मोहम्मद (स.अव)
  11. किसी भी मुल्ला, नेता, पंडित को धार्मिक ग्रंथों के उपदेशों से पहचानो
  12. तू भी हिंदू है कहाँ, मैं भी मुसलमान कहाँ
  13. क्या गैर मुस्लिम की मदद इस्लाम में मना है?
  14. धर्म चाहे वोह कोई भी हो उसका रंग सफ़ेद होता 
  15. भले लोगों से अत्याचारियों का युद्ध था कर्बला…हमारी ओर से भी श्रद्धांजलि……एस एम् मासूम


आज के इस दौर मैं इस्लाम के सिध्दांतों और आम मुसलमानों के व्यवहार को अलग-अलग करके देखना होगा। यह मुसलमान के लिये शर्म की बात है. अगेर आज का मुसलमान जो करता है उसको इस्लाम मान लिया जाए तोह इस्लाम पामाल जो जाएगा और बदनाम तोह हो ही रह है, लोग देख सकते हैं.




ज़रुरत है आज फिर एक हुसैन की , जो आज के मुनाफिकून को राह पे लाये. दुआ करें इमाम महदी (अ.स) के जल्द ज़हूर की और उस से पहले अपने किरदार को इस्लाम के मुस्लिम किरदार जैसा बना ने की कोशिश करें.
स.म. मासूम

  • Blogger Comments
  • Facebook Comments

2 टिप्पणियाँ:

  1. sach baat hai aaj muslman apne karani se tamasha ban gaye aur apne anjam bhi bhugad rahe hai mgr hamko samajh me nahi aaraha hai ham unke taur tariko ki taraf rukh kar rahe hai aur apna tawor tarika mitate jarahe hai

    ReplyDelete

Item Reviewed: धर्म दर्शन 9 out of 10 based on 10 ratings. 9 user reviews.
Scroll to Top